सर्वोत्तम वैदिक पूजा जो एक शिवभक्त महादेव को अर्पित कर सकता है वह है रुद्राभिषेक। यह पूजा सभी वैदिक शास्त्रों द्वारा, यहां तक ​​कि आयुर्वेद शास्त्रों द्वारा भी, सर्वांगीण सफलता के लिए सबसे बड़ी पूजा के रूप में प्रशंसित है, जो सभी बुराइयों को दूर करती है और सभी ग्रहों के प्रभाव को निष्प्रभावी करती है। रुद्राभिषेक सभी प्रकार के पापों के प्रयाश्चित के रूप में में भी उत्तम है।. यह मनुष्य की 364 प्रकार की इच्छाएं पूरी करता है। हम अपने वैदिक गुरुकुल के विकास में सहयोग करने वालों के हितार्थ नित्य रुद्राभिषेक करते हैं। गुरुकुल में नित्य ही रुद्राभिषेक होता है, यह आप एवं आपके परिवार के हित की कामना के संकल्प के साथ किया जाता है। इसका लाईव प्रसारण फेसबुक, यूट्यूब आदि माध्यमों से किया जाता है जहां आप इसे संकल्प के साथ देखकर इसमें अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकते हैं। आप नित्य ही इसे लाईव प्रसारित होता देख सकते हैं। यदि कोई अपने एवं अपने परिवार के हित के लिए नित्य रुद्रा​भिषेक करना चाहता है, वह 4999 रु. की सहयोग राशि प्रत्येक मास गुरुकुल को प्रदान कर सकता है एवं हम उनके निमित्त नित्य रुद्राभिषेक करेंगे। वह नित्य इसका लाइव प्रसारण देख सकता है।

सहयोग राशि

One Day
1001
  • We do Rudrabhishek puja once.
8 Days
2001
  • We do Rudrabhishek puja for 8 Days
Monthly
4999
  • We do Rudrabhishek puja daily for 30 days

धनवापसी नीति: यदि आप किसी भी कारण से अपनी पूजा से संतुष्ट नहीं हैं, तो बस सहयोग राशि के लिए कहें और हम आपको 100% सहयोग राशि वापस भेज देंगे। कोई प्रतिप्रश्न नहीं किया जायेगा।

  • कोई भी व्यक्ति जो मृत्यु के भय से बहुत भय में है। उसे रुद्राभिषेक करना चाहिए।
  • यदि आप कुछ ग्रहों के बुरे प्रभाव से पीड़ित हैं, जो प्रतिकूल स्थिति में हैं।
  • यदि आप आसन्न कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं।
  • अगर आपके दुश्मन आपको परेशान कर रहे हैं ।
  • यदि कोई व्यक्ति असाध्य रोग से पीड़ित है।
  • अगर किसी को संतान नहीं हो रही है।
  • यदि कोई सभी प्रकार की सुख समृद्धि प्राप्त करना चाहता है। पुत्र, पौत्र, धन, धान्य, धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति और मृत्यु से मुक्ति।

यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस पूजा करने का फैसला करते हैं, हम रुद्राभिषेक के अलावा अन्य पूजा भी करते हैं। यह निश्चित है कि पूजा उस विशेष क्षेत्र में उच्च योग्य लोगों द्वारा की जाएगी जैसे कि वैदिक पूजा केवल योग्य वेदपाठी द्वारा की जाएगी।

आप पूजा करने का फैसला करते हैं और आप हमारे साथ पूजा बुक करते हैं। साइन अप प्रक्रिया में हम सभी आवश्यक जानकारी एकत्र करते हैं और हम आपको अधिक जानकारी एकत्र करने और अपनी बुकिंग की पुष्टि करने के लिए काल करते हैं। जब आप साइन अप करने के बाद पूजा बुक करते हैं तो आप अपने संकल्प का उल्लेख कर सकते हैं और हम उस संकल्प के साथ पूजा करेंगे। यदि आपने पूजा की बुकिंग की है और हमने इसे स्वीकार कर लिया है तो यह हमारी गारंटी है कि यह किया जाएगा।

शास्त्रों के अनुसार यदि हम किसी अन्य व्यक्ति के लाभ के संकल्प के साथ पूजा करते हैं तो यह इसी प्रकार कार्य करता है एवं लगभग उतना ही लाभ प्रदान करता है जैसे वह व्यक्ति स्वयं पूजा कर रहा हो। हम एक ऐसे व्यक्ति का उदाहरण ले सकते हैं जो एक अस्पताल में है, और हम उसके अच्छे स्वास्थ्य के लिए महामृत्युंजय करते हैं, और उसे इसका लाभ मिलता है। मुख्य निर्णायक कारक यह है कि हम किस संकल्प के साथ पूजा करते हैं, और भगवान सब कुछ जानते हैं।

इसका लाईव प्रसारण फेसबुक, यूट्यूब आदि माध्यमों से किया जाता है जहां आप इसे संकल्प के साथ देखकर इसमें अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सकते हैं। आप नित्य ही इसे लाईव प्रसारित होता देख सकते हैं। आप कूरियर के माध्यम से प्रसाद प्राप्त करेंगे ।

हमारे बारे में

हम वैदिक ब्राह्मणों का एक समूह हैं जो वेद, वेदांत और कर्मकांडम में पारंगत हैं। आचार्य राजेश बेंजवाल, जो इस पूरे प्रोजेक्ट का मार्गदर्शन कर रहे हैं, ने पूज्य स्वामी दयानंद सरस्वती जी के अधीन आर्ष विद्या गुरुकुलमें वेद वेदांत का अध्ययन किया है। वह ग्रन्थ “तत्त्वबोध” के लेखक भी हैं। वे वैदिक सूक्तों का जप करने में पारंगत हैं और तंत्र परंपरा में भी पारंगत हैं। हमारे पास वेदपाठी, शास्त्री और आचार्यों का एक समूह है जो कर्मकांड में पारंगत हैं। वे भक्तों द्वारा प्रार्थित पूजा करेंगे।

हमें क्यों चुनें?

  • हम ध्यान रखते हैं कि पारंपरिक शास्त्रीय विधान से पूजा की जाये, और हम सस्त्रिया पद्धति से समझौता नहीं करते हैं।
  • हम पहले से ही इन कर्मकाण्डों को बहुत लंबे समय से सफलता के उंचे प्रतिशत के साथ कर रहे हैं, वही हम अब आप तक ऑनलाइन पहुंचा रहे हैं।
  • हम यह ध्यान रखते हैं कि जब वेद ​​मंत्र का पाठ करने की बात आती है तो केवल हमारे पंडित जो वैदिक मंत्रोच्चार में पारंगत होते हैं, वही उस पूजा का सर्वोत्तम परिणाम सुनिश्चित करने के लिए उसका पाठ, जप करे।